नहीं हुआ था लडक़ी का अपहरण, अपनी मर्जी से प्रेमी के साथ चली गई थी लडक़ी
गाजियाबाद (युग करवट)। मोदीनगर थाना पुलिस ने २० दिसंबर को आर्यसमाज मंदिर से मां के सामने अगवा की गई लडक़ी को मुखबिर की सूचना के बाद सकुशल बरामद करके उसे उसके परिजनों के सुपूर्द कर दिया। पुलिस के मुताबिक प्राथमिक जांच के दौरान जो बात सामने आई है उससे पता चला है कि जिस लडक़ी के अपहरण की रिपोर्ट उसकी मां ने दर्ज करवाई थी और बागपत निवासी देवेश उर्फ देव को अपनी पुत्री के अपहरण का आरोपित बताया था, उसका अपहरण नहीं हुआ था। बल्कि वो अपनी मर्जी से ही अपने प्रेमी के पास चली गई थी। सूत्रों के अनुसार जिस लडक़ी को सकुशल बरामद किया गया है उसने बताया कि वह अपनी मां एवं परिजनों के तानों एवं डंाट डपट से परेशान होकर खुद ही घर से चली गई थी। अपने बयानों में लडक़ी ने यह भी बताया कि उसका किसी ने भी अपहरण नहीं किया था। बाहराल लडक़ी के अपहरण के पीछे की असलियत क्या है इसकी असलियत का पता या तो स्वयं लडक़ी अथवा पुलिस को होगा लेकिन अपहृत लडक़ी की सकुशल बरामदगी होने से कमिश्नरेट पुलिस ने राहत की सांस जरूर ली है।