नगर संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। मेरठ रोड पर अब कांवडिय़ों का आना लगातार बढ़ता जा रहा है। बड़ी सख्या में हरिद्वार से कांवडिय़ों का वापस लौटना भी शुरू हो गया है। लेकिन, मेरठ मार्ग पर एक ही रोड पर कांवडिय़ा और वाहन दोनों चल रहे हैं, जिससे कभी भी कोई हादसा हो सकता है।
कांवड़ यात्रा को देखते हुए मेरठ रोड पर १६ जुलाई से रूट डायवर्जन कर दिया गया था, ताकि कांवडिय़ों को आने में कोई दिक्कतें न हो। बावजूद इसके आज यानि १९ जुलाई तक भी मेरठ रोड पर सामान्य गति से ट्रैफिक चल रहा है। शिवरात्रि में महज आठ दिन का समय बाकी रह गया है, ऐसे में आने वाले समय में कांवडिय़ों की संख्या में और इजाफा होगा। लेकिन, अगर मेरठ रोड पर इसी तरह से ट्रैफिक चलता रहा तो कांवडिय़ों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। पुलिस और प्रशासन लगातार रूट डायवर्ट होने का दावा कर रहे हैं, लेकिन अभी तक एक भी लाइन को पूरी तरह से ट्रैफिक के लिए बंद नहीं किया गया है। गौरतलब है कि कल ही अमरोहा में ट्रक की टक्कर से दो कांवडिय़ों की मौत हो गई थी, जिसे लेकर काफी बवाल भी हुआ था। लेकिन, इस हादसे के बाद भी स्थानीय पुलिस सबक नहीं ले रही है।