नगर संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। श्रावण मास की शिवरात्रि में अब ११ दिन का समय बाकी रह गया है, लेकिन दिल्ली-मेरठ मार्ग पर अभी भी तैयारियां शुरू नहीं हो सकी हैं। कांवड़ लाने वाले शिवभक्तों के लिए दिल्ली-मेरठ मार्ग मुख्य मार्ग है, जहां से सैंकड़ों की तादात में कांवडिय़ा गुजरते हैं लेकिन, इस कांवड़ मार्ग पर अभी तैयारियां शुरू नहीं हो सकी हैं। आज से रूट डायवर्ट भी किया जाना था लेकिन, अभी भी इस मार्ग पर सामान्य तरीके से यातायात का आवागमन हो रहा है। हालांकि, कांवड़ यात्रा की तैयारियों को लेकर बैठकों का दौर चल रहा है। शासन से गाइडलाइन भी जारी हो चुकी है, लेकिन अभी तक तैयारियों के लिए सिर्फ निरीक्षण ही किए जा रहे हैं। इस कांवड़ मार्ग में सौ से अधिक शिविर लगाए जाएंगे। इसके अलावा सीसीटीवी, वॉच टॉवर भी लगाए जाने हैं, लेकिन अभी तक भी इस मार्ग पर कहीं तैयारियां होती दिखाई नहीं दे रही हैं। अधिकारियों का कहना है कि अभी इस मार्ग पर कांवडिय़ों का आवागमन शुरू नहीं हुआ है, यात्रा को देखते हुए ही ट्रैफिक प्लान लागू किया जाएगा। मार्ग को दुरूस्त करने और कंट्रोल रूम बनाने का काम शुरू हो गया है। बाकी की तैयारी भी यात्रा आरंभ होने से पूर्व कर ली जाएंगी। फिलहाल मार्ग में गड्डे भरने और सडक़ के दोनों ओर सफाई आदि का काम चल रहा है।