युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। मेरठ मंडल कमिश्नर सुरेंद्र सिंह ने आज मसूरी झील पर मत्स्य पालन के लिए बीज संचय कार्य का शुभारंभ किया। इस दौरान उन्होंने क्षेत्र में मछली पालन को बढ़ावा दिए जाने के लिए अन्य प्रोजेक्ट शुरू करने के निर्देश संबंधित विभाग को दिए हैं। इसके उपरांत उन्होंने पौधरोपण किया व डासना सीएचसी का भी निरीक्षण किया।
मंडल आयुक्त सुरेंद्र सिंह ने पतला निवासी रजनीश के मसूरी स्थित करीब ३२ बीघे क्षेत्र फल तालाब में मत्स्य पालन के लिए रोहू, कतला और नैन प्रजाति की मछलियों के बीज झील में संचय करने के लिए डाले। बीज संचय के उपरांत इनका पालन किया जाएगा ताकि मत्स्य कारोबार को बड़े स्तर पर किया जा सके। मंडलायुक्त ने अन्य मत्स्य पालकों को भी समय से बीज संचय करने की अपील की ताकि समय से इन्हें बड़ा कर बाजार में पहुंचाया जा सके। मंडलायुक्त ने कहा कि मस्त्य पालक निर्धारित प्रजाति की मछली का पालन करें जिससे कारोबार को बढ़ावा मिल सके। इसके उपरांत मंडलायुक्त ने पौधरोपण कर पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया और अधिकारियों को निर्देश दिए कि चार जुलाई को होने वाले पौधरोपण कार्यक्रम में लक्ष्य के अनुरूप पौधरोपण कराएं व उनका संरक्षण भी करें जिससे पर्यावरण को शुद्घ किया जा सके। इसके बाद मंडलायुक्त ने डासना सीएचसी में चल रहे वैक्सीनेशन सेंटर का भी निरीक्षण किया। मंडलायुक्त ने डासना सीएचसी पर कितने लोगों का वैक्सीनेशन हो चुका है, इसके रिकॉर्ड की जांच की और डासना सीएचसी प्रभारी डॉ.भारत भूषण को अधिक से अधिक वैक्सीनेशन कराने के लिए लोगों को जागरूक करने के भी निर्देश दिए। मंडलायुक्त ने कहा कि वैक्सीनेशन कराने आने वालों को कोई परेशानी ना हो, इसका विशेष ध्यान रखा जाए। पानी और बैठने की पर्याप्त व्यवस्था की जाए तो वहीं कोविड नियमों का भी सख्ती से पालन किया जाए ताकि संक्रमण का प्रसार ना होने पाए। मंडलायुक्त ने डीएम आरके सिंह को क्षेत्र में वैक्सीनेशन अभियान में तेजी लाने के लिए बड़े स्तर पर जागरूक अभियान चलाए जाने को कहा। डासना सीएचसी पर अभी भी वैक्सीनेशन की रफ्तार कम है। इसके अलावा मंडलायुक्त ने सीएचसी का भी निरीक्षण किया। इस अवसर पर सीडीओ अस्मिता लाल, मत्स्य विभाग डायरेक्टर एसके सिंह, डिप्टी डायरेक्टर मेरठ अनिल कुमार, डीडीओ भालचंद त्रिपाठी, मत्स्य अधिकारी चरण सिंह व मत्स्य निरीक्षण विनोद कुमार आदि अधिकारी मौजूद रहे।