युग करवट संवाददाता
मेरठ/गाजियाबाद। सूबे में कानून व्यवस्था को और अधिक सुदृढ़ बनाने और प्रदेश को बदमाशों और गुंडों के भय से मुक्ति दिलाने के लिए प्रयासरत डीजीपी मुकुल गोयल ने मेरठ जोन पुलिस की प्रगति रिपोर्ट चेक करने के लिए आज मेरठ पुलिस लाइन के सभागार में एडीजी, आईजी और डीआईजी स्तर के अधिकारियों से लेकर आठ जिलों के कप्तानों के साथ क्राइम मीटिंग की।
सूत्रों के अनुसार मीटिंग में यूं तो किसान आंदोलन को लेकर की जा रही सुरक्षा व्यवस्था और आगामी त्यौहारों विशेषकर स्वतंत्रता दिवस के मौके पर रखी जाने वाली सजगता सहित कई मुदïï्दों पर चर्चा हुई की लेकिन डीजीपी मुकुल गोयल ने जो सबसे महत्वपूर्ण बात कही, वह थी बदमाशों में पुलिस का भारी खौफ। श्री गोयल ने कहा कि पुलिस बदमाशों पर इस प्रकार से शिकंजा कसे कि बदमाश अपराध करने की बात तो दूर, सूबे में रहने की बात पर भी थर-थर कांपें। पुलिस के आला अफसरों के साथ बैठक करने के बाद डीजीपी जनप्रतिनिधियों से रुबरू हुए। बैठक में श्री गोयल ने जनप्रतिनिधियों को आश्वासन दिया कि पुलिस के अधिकारी ना केवल हर फरियादी की फरियाद सुनेंगे बल्कि पुलिस से संबंधित शिकायतों का निस्तारण भी जल्द से जल्द करेंगे। इसके बाद डीजीपी मुकुल गोयल ने पत्रकारों के सवालों के जवाब भी दिए।