युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। आज सुबह छह बजे के आस-पास लोनी बॉर्डर थाने के एसएचओ राजेंद्र कुमार त्यागी को सूचना मिली थी कि बेहटा हाजीपुर गांव के पास बने गोदाम के पास गौवंश की हत्या करके कुछ लोग उनका मांस निकाल रहे हैं। इस सूचना के मिलते ही एसएचओ पुलिस बल के साथ बताये गये स्थान पर पहुंच गये। पुलिस को देखकर गौवंश की हत्या करके उनका मांस निकाल रहे आधा दर्जन से अधिक बदमाशों ने पुलिस पर फायर कर दिया। इसके बाद काफी देर तक दोनों ओर से फायरिंग हुई। फायरिंग के दौरान जहां सात गौतस्कर पुलिस की गोली लगने से घायल हो गये वहीं उनके दो साथी पुलिस पर गोलियां चलाते हुए भाग गये। पुलिस ने घायल बदमाशों को अस्पताल पहुंचाकर मौके से सात तमंचे, पांच छुरे, दो कुल्हाड़ी और प्लास्टिक के बंडलों के अलावा कटे हुए तीन गौवंश बरामद कर लिये।
इस संदर्भ में एसपी देहात डॉक्टर इरज राजा ने बताया कि मुठभेड़ में हुई फायरिंग के दौरान पुलिस की गोली लगने से घायल हुए गौतस्करों के नाम मुस्तकीम निवासी मुस्तफाबाद इकरामनगर, सलमान निवासी मुजफ्फरनगर हाल लक्ष्मी गार्डन कॉलोनी लोनी बॉर्डर, मोनू निवासी इंद्रापुरी कॉलोनी लोनी बॉर्डर, इंतजार निवासी ३० फुटा अशोक विहार रोड लोनी, नाजिम निवासी मजदूर जनता कॉलोनी वेलकम दिल्ली, आसिफ निवासी अशोक विहार लोनी व इस्लाम निवासी प्रेमनगर लोनी हैं। वहीं फरार हुए बदमाशों के नाम भूरा व दानिश निवासी जाफराबाद दिल्ली है। श्री राजा ने बताया कि पुलिस के हत्थे चढ़े सातों बदमाश ना केवल शातिर किस्म के अपराधी हैं बल्कि कुख्यात गौतस्कर भी हैं।