तीन मई को हुई थी टाटा स्टील प्रवेश के बिजनेस हेड की हत्या
सब इंस्पेक्टर को भी लगी गोली, दो लुटेरे गिरफ्तार, चौथे आरोपी की तलाश
प्रमुख अपराध संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। टाटा स्टील प्रवेश अलमीरा के बिजनेस हेड विनय त्यागी की हत्या मामले में पुलिस ने बड़ी सफलता हासिल की है। आज सुबह साहिबाबाद इलाके में पुलिस और बदमाशों के बीच हुई मुठभेड़ में बदमाश दक्ष मारा गया। मुठभेड़ में एक दारोगा भी घायल हुआ है। दक्ष दिल्ली के सीलमपुर का रहने वाला था। 3 मई की रात शालीमार गार्डन थाना क्षेत्र में टाटा स्टील प्रवेश अलमीरा के बिजनेस हेड विनय त्यागी की हत्या हुई थी। पुलिस को सूचना मिली थी कि कुछ बदमाश आज तडक़े कहीं लूट करने वाले हैं। पुलिस चेकिंग करने में लग गई। उसी समय बाइक पर सवार कुछ युवक आते हुए दिखाई दिये। पुलिस ने जब उनको रोकना चाहा तो वो फायर करते हुए भागने लगे। उसके बाद पुलिस ने जवाबी कार्रवाई करते हुए फायरिंग करनी शुरू कर दी। पुलिस की गोली लगने से एक बदमाश ढ़ेर हो गया। इस मुठभेड़ में एक दरोगा भी घायल हो गया। चिकित्सकों ने बदमाश को मृत घोषित कर दिया। पुलिस अधिकारी ने बताया कि मृतक बदमाश की पहचान जहां सीलमपुर दिल्ली निवासी अक्की उर्फ दक्ष के रूप में हुई वहीं पुलिस की गिरफ्त में आये अन्य दो बदमाशों ने अपने नाम युग व लव कुश बताये। पूछताछ के दौरान दोनों बदमाशों ने बताया कि उनके गैंग में चार सदस्य हैं। वो नशे और लग्जरी लाईफ जीने के शौकीन है। अपनी इस लत को पूा करने के लिये वो छिनैती व लूटपाट करते हैं। वारदात वाले दिन भी दश उर्फ अकी, लव कुश, युग व अमित लूट का टारगेट बनाकर निकले थे। जब वो शालीमार गार्डन थाना क्षेत्र में पहुंचे तो उन्होंने एक व्यक्ति को सुनसान स्थान पर चलते हुए पाया। दक्ष ने चाकू से वार करके टाटा स्टील प्रवेश के बिजनेस हैड विनय त्यागी की हत्या कर दी। वारदात के खुलासे के लिये डीसीपी ट्रांस हिंडऩ निमिष दशरथ पाटिल के नेतृत्व में पुलिस की लगभग दर्जन भर टीम गठित की गई थी। इस खुलासे के लिये जहां डीसीपी निमिष दशरथ पाटिल व एसीपी सिद्घार्थ गौतम शालीमार गार्डन कुछ घंटे भी सुकून की नींद नहीं ले पाये थे वहीं उनकी व सीपी की स्वॉट टीम के अलावा एसओ शालीमार गार्डन नरेंद्र कुमार सिंह की टीम भी हत्यारों को पकडऩे के लिये दिन रात एक कर रही थी।