युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आज शाम दिल्ली आने की संभावना है। सूत्रों के अनुसार, दिल्ली में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और भाजपा के राष्टï्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मिलने का कार्यक्रम है। मुख्यमंत्री विमान से आज शाम हिंडन एअरबेस पहुंचेंगे, यहां से कार से यूपी सदन पहुंचेंगे। यूपी सदन की सुरक्षा बढ़ाई गई है। हालांकि मुख्यमंत्री के दिल्ली आगमन को लेकर कोई औपचारिक घोषणा नहीं की गई है। शपथ ग्रहण के बाद योगी का यह पहला दिल्ली दौरा है।
सूत्रों के अनुसार, इस दौरे के दौरान योगी आदित्यनाथ को भाजपा संसदीय बोर्ड बोर्ड का सदस्य बनाने पर मुहर लग सकती है। इसे लेकर भाजपा शीर्ष नेता उनसे चर्चा करना चाहते हैं। भाजपा के सबसे शक्तिशाली बोर्ड में योगी को स्थान मिलना इसलिए भी अहम है क्योंकि प्रधानमंत्री पद की दावेदारी से पहले नरेंद्र मोदी को गुजरात का मुख्यमंत्री रहते हुए संसदीय बोर्ड का सदस्य बनाया गया था। योगी से पहले शिवराज सिंह चौहान को भी इस टीम में शामिल किया जा चुका है।
दरअसल, पूर्व केंद्रीय मंत्रियों सुषमा स्वराज और अरुण जेटली के निधन के बाद से संसदीय दल में पद खाली हैं। भाजपा सूत्रों का कहना है कि यूपी में जीत के बाद योगी आदित्यनाथ को पार्टी संसदीय बोर्ड का सदस्य बनाकर उन्हें इनाम दे सकती है। सोमवार को योगी आदित्यनाथ लखनऊ से दिल्ली पहुंचने के बाद प्रधानमंत्री मोदी, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, गृह मंत्री अमित शाह और बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात करेंगे। इसके बाद उनके नाम का ऐलान हो सकता है।
दरअसल, योगी आदित्यनाथ को संसदीय बोर्ड का सदस्य बनाए जाने को इसलिए भी अहम माना जा रहा है कि क्योंकि भाजपा के अंदर और बाहर यह सबसे बड़ा सवाल बना हुआ है कि प्रधानमंत्री मोदी के बाद भाजपा में प्रधानमंत्री पद का दावेदार कौन होगा? देश में सबसे अधिक 80 सांसद देने वाले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को इस रेस में काफी आगे माना जा रहा है। यूपी में लगातार दूसरी बार जीत का रिकॉर्ड बनाने के बाद उनकी दावेदारी और मजबूत हो गई है। अब उन्हें संसदीय बोर्ड का सदस्य बनाए जाने के बाद राजनीतिक विश्लेषक इसे योगी के मोदी राह पर बढऩे से जोडक़र देख रहे हैं।