प्रमुख संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। मास्टर प्लान 2031 का रास्ता साफ होने जा रहा है। हाल ही में आई आपत्तियों के निस्तारण के बाद इस मास्टर प्लान के फाइनल ड्राफ्ट को जीडीए बोर्ड की बैठक में पेश किया जाएगा। माना जा रहा है कि बोर्ड की मुहर लगने के बाद शासन की स्वीकृति के लिए मास्टर प्लान को भेजा जाएगा। नियोजन विभाग के सूत्रों का कहना है कि जीडीए की कोशिश है कि मास्टर प्लान को दीवाली से पहले ही फाइनल कर दिया जाए। मास्टर प्लान 2031 को लेकर जीडीए वीसी आरके सिंह और शासन गंभीर हैं। मास्टर प्लान को लेकर वीसी कितने गंभीर हैं इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि वह आपत्तियों की सुनवाई में खुद मौजूद रहे हैं ताकी मास्टर प्लान फाइनल करते हुए किसी तरह की कोई चूक नहीं रह जाए। यह तब है जबकि आरके सिंह पहली बार किसी प्राधिकरण के प्रभारी है। जीडीए वीसी चाहते हैं कि जल्दी से जल्द मास्टर प्लान पर आई आपत्तियों की सुनवाई के बाद अब इस चेप्टर को क्लोज किया जाए। मास्टर प्लान पर सदस्यों की राय के हिसाब से उसे फाइनल किया जाए।