* पार्टी नेताओं के छोडऩे का बसपा अध्यक्ष पर नहीं पड़ रहा है कोई असर
* मायावती लेंगी चार चरणों में टिकट चाहने वालों का इंटरव्यू
युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। नेताओं और कार्यकर्ताओं के पार्टी छोडऩे का बसपा अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री मायावती पर कोई असर नहीं पड़ रहा है। २९ साल तक बसपा अध्यक्ष का साथ देने वाले पूर्व मंत्री संभल के कद्दावर नेता अकीलुर्रहमा ने भी पार्टी को बाय-बाय कर दिया है। बताया जा रहा है कि वे सपा के टिकट पर संभल से चुनावी मैदान में उतरेंगे। इस बीच बसपा से खबर आई है कि इस बार टिकट बांटने से पहले सभी दावेदारों का मायावती खुद इंटरव्यू लेंगी। उनकी परीक्षा में पास होने के बाद ही टिकट दिया जाएगा। सूत्रों के अनुसार, उम्मीदवारों को इंटरव्यू के लिए बसपा कार्यालय लखनऊ में बुलाया जा रहा है। इसमें पास होने पर ही टिकट दिया जाएगा। बसपा प्रमुख मायावती इस इंटरव्यू को 4 चरणों में लेंगी। पहले चरण में उम्मीदवारों से उनकी छवि और राजनीतिक कैरियर के बारे में विस्तार से पूछा जाएगा। पहले इंटरव्यू में उम्मीदवार के सफल होने के बाद दूसरा इंटरव्यू लिया जाएगा। इसमें उम्मीदवार से उसके निर्वाचन क्षेत्र में चल रहे मतदाताओं के ज्ञान और मूड के बारे में पूछा जाएगा। तीसरे चरण में उम्मीदवार से अन्य उम्मीदवारों के बारे में पूछा जाएगा जो अपने निर्वाचन क्षेत्र में विधानसभा चुनाव लड़ रहे हैं। चौथे और आखिरी इंटरव्यू सेशन उम्मीदवार की क्षमता और काम पर आधारित होगा जो उनके निर्वाचन क्षेत्र में चुनाव जीतने के लिए किया गया है। अंतिम सवाल यह होगा कि बसपा आपको आपके निर्वाचन क्षेत्र से टिकट क्यों दे? और उम्मीदवार की ओर से सही और संतोषजनक जवाब देने के बाद, वह टिकट के लिए पात्र होगा और बसपा से 2022 का विधानसभा चुनाव लड़ेगा।