युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। मिशन शक्ति अभियान ४.० के तहत जिला मुख्यालय में ‘हक की बात, जिलाधिकारी के साथ’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जहां राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्ष अंजू चौधरी और डीएम आरके सिंह ने महिलाओं की समस्याओं को सुना और उन्हें उनके अधिकारों के प्रति जागरूक किया।
आयोग की उपाध्यक्ष अंजू चौधरी का स्वागत प्लांट देकर करते हुए डीएम आरके सिंह ने कहा कि इस कार्यक्रम का उद्देश्य महिलाओं की समस्याओं को जानना है। जिससे उन्हें समाज और घर में ना सिर्फ सम्मान मिल सके, बल्कि वे किसी के शोषण का शिकार न हो सकें। डीएम ने कहा कि महिलाओं को यह मंच इसीलिए दिया गया है कि वह अपनी समस्याएं या शिकायतें हक के साथ कह सकें। वहीं राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्ष अंजू चौधरी ने कहा कि ऐसे आयोजनों के माध्यम से महिलाओं को अपनी बात रखने का प्रमुखता से मंच दिया जा रहा है। कई बार महिलाएं अपने साथ हो रहीं ज्यादतियों के बारे में नहीं बता पाती और उत्पीडऩ का शिकार होती रहती हैं। पुलिस में भी महिलाएं कई बार अपनी शिकायत दर्ज कराने से बचती है।
अक्सर महिलाओं को बड़े पैमाने पर अपने अधिकारों की जानकारी तक नहीं हो पाती। मिशन शक्ति अभियान के तहत ऐसी महिलाओं को उनके अधिकारों और सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी दी जा रही है जिससे वे जागृत हों और समाज में भी जागरूकता आए। हक की बात के तहत एक महिला अर्चना त्यागी ने बेटियों की सुरक्षा को लेकर सवाल उठाया कि स्कूल, ट्यूशन जाते समय वह कैसे निश्चित हों कि उनकी बेटियां सुरक्षित हैं? डीएम ने इस पर जवाब देते हुए कहा कि बेटियों के स्मार्ट फोन में जीपीएस शुरू कराएं। इसके अलावा पुलिस की ओर से एंटी रोमियो स्कवॉड तैनात रहता है। बेटियों की लाइव लोकेशन रहने से अगर वह कोई मुश्किल में आती हैं तो तत्काल स्कवॉड या हेल्पलाइन पर सम्पर्क किया जा सकता है। एक अन्य महिला उमा ने साइबर क्राइम और ऑनलाइन बैंकिंग फ्रॉड का मामला उठाया। जिस पर डीएम ने जवाब दिया कि किसी को भी फोन पर अपना ओटीपी और महत्वपूर्ण जानकारी न दें।
इसके अलावा अगर उनके खाते से पैसे कटते हैं तो तत्काल बैंक को इसकी जानकारी दें और साइबर सेल में भी मामला दर्ज कराएं, जिससे उनके पैसे वापस आ सकें। इसके अलावा महिलाओं ने गोविंदपुरम से डासना तक अप्रोच रोड, दहेज एक्ट का दुरूपयोग, सुमंगला योजना, वृद्घावस्था पेंशन योजना के फॉर्म निरस्त होने सम्बंधी सवाल डीएम से किए, जिनके जवाब डीएम आरके सिंह ने उन्हें नियम बताकर दिए। कार्यक्रम का संचालन पूनम शर्मा ने किया। इस अवसर पर जिला प्रोबेशन अधिकारी विकास चंद्र, एसीएमओ डॉ. सुनील त्यागी, जिला समाज कल्याण अधिकारी अमरजीत सिंह, बीएसए ब्रजभूषण चौधरी, महिला कल्याण अधिकारी नेहा आदि मौजूद रहे।