युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। मवई गांव में चल रहे पानी की पाइप लाइन डालने का विवाद बढ़ता जा रहा है। स्थानीय लोगों ने पार्षद पर मौहल्ले के लोगों का पानी रोकने का आरोप लगाया था। अब पाल मौहल्ले के लोगों ने डीएम से मिलकर उनका पानी न रोके जाने को लेकर जिला मुख्यालय में प्रदर्शन किया है।
स्थानीय लोगों ने डीएम को सौंपे ज्ञापन में बताया कि २९ मई को महापौर ने व्यक्तिगत रूप से पाल मौहल्ले व दूसरे मौहल्ले का निरीक्षण किया और पाया कि दोनों मौहल्ले में करीब १०-१२ फिट की ऊंचाई का अंतर था। ऐसे में उन्होंने मौखिक रूप से एक नया नलकूप लगवाने का आश्वासन दूसरे मौहल्ले को दिया। ३१ मई को नगर निगम की टीम कनेक्शन जुड़वाने के लिए खुदाई शुरू कराई तो पाल मौहल्ले के लोगों ने विरोध कर काम रुकवाने की बात कही, मौके पर पुलिस भी आई और पार्षद भी पहुंचे। इसके बाद काम को शुरू दोबारा शुरू कराया गया। स्थानीय लोगों ने डीएम से मांग की है कि पाल मौहल्ले की परेशानियों को देखते हुए इस नलकूप के कनेक्शन को रोका जाए और दूसरे मौहल्ले में नया नलकूप लगाया जिससे उन्हें पानी की दिक्कतें न हो। ज्ञापन देने वालों में राजपाल सिंह, राधेश्याम शर्मा, जयलाल, मनोज कुमार, अनिल पाल, कृष्णलाल, विजय कुमार, नरोत्तमपाल, जितेन्द्र कुमार सहित सैंकड़ो लोगों ने कार्रवाई की मांग की है।