ग्रेटर नोएडा (युग करवट)। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ एवं डीएमआईसी आईआईटीजीएनएल की प्रबंध निदेशक रितु माहेश्वरी ने मल्टीमॉडल लॉजिस्टिक हब और मल्टीमॉडल ट्रांसपोर्ट हब की समीक्षा की। सीईओ ने दोनों परियोजनाओं की विस्तृत परियोजना रिपोर्ट की प्रेजेंटेशन को देखा। दोनों परियोजनाओं की डीपीआर एवं बिड डॉक्यूमेंट में कुछ संशोधन के सुझाव दिए। इन सुझाव पर अमल करते हुए दोनों परियोजनाओं की डीपीआर एवं बिड डॉक्यूमेंट शीघ्र फाइनल कराने के निर्देश दिए हैं। बैठक में एसीईओ प्रेरणा शर्मा एवं आनंद वर्धन, महाप्रबंधक परियोजना सलिल यादव, उप महाप्रबंधक वित्त मोनिका चतुर्वेदी, आईआईटीजीएनएल के निदेशक अभिषेक चौधरी, कंपनी सेक्रेटरी पतंजलि दीक्षित समेत अन्य अधिकारी मौजूद रहे।
बाक्स में………
मल्टीमॉडल ट्रांसपोर्ट हब परियोजना के अंतर्गत रेलवे, बस अड्डा व मेट्रो कनेक्टिविटी विकसित की जाएगी। बोड़ाकी के पास ही ग्रेटर नोएडा रेलवे टर्मिनल बनाया जाएगा। यहां से पूरब की ओर जाने वाली अधिकतर ट्रेनें चलेंगी। इससे दिल्ली, नई दिल्ली और आनंद विहार टर्मिनल पर ट्रेनों का दबाव कम होगा। ट्रांसपोर्ट हब में ही अंतर्राज्यीय बस अड्डा भी बनेगा।