युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। लंबे समय से मुआवजे की मांग को लेकर अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे मंडोला के किसानों ने आज डीएम कार्यालय में हो रही बैठक का बहिष्कार किया। बैठक को लेने के लिए केंद्रीय राज्य मंत्री वीके सिंह खुद पहुंचे और किसानों की समस्या सुनी लेकिन मंडोला में धरनारत किसानों ने बैठक का बहिष्कार करते हुए आरोप लगाया कि कुछ लोगों को लाभ देने के लिए लोगों को पहले ही बैठक में बुला लिया गया है। किसान नेता नीरज ने आरोप लगाया कि उन्हें आवास विकास परिषद द्वारा बैठक में बुलाया गया था। जब यहां पहुंचे तो उनसे पहले ही लोग यहां मौजूद थे जो भाजपा समर्थित है। साथ ही सांसद के आने की कोई सूचना भी उन्हें नहीं दी गई। इसकी वजह से मंडोला के किसानों ने इस बैठक का बहिष्कार किया और डीएम कार्यालय पर हंगामा भी किया। हालांकि किसानों को मनाने की कोशिश भी जिला प्रशासन के अधिकारियों द्वारा की गई लेकिन किसान बैठक में सम्मिलित नहीं हुए काफी देर तक किसान डीएम कार्यालय के बाहर हंगामा करते रहे लेकिन बैठक अंदर चलती रही।