युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। राज्य सरकार द्वारा किराना सामानों पर डेढ़ फीसदी मंडी शुल्क लगाए जाने के विरोध में यूपी किराना व्यापारी संघ के आहवान पर जिले के किराना व्यापारी भी धरने पर बैठ गए। व्यापारियों ने किराना मंडी स्थित अपनी दुकानों को बंद करते हुए जीटी रोड पर प्रदर्शन किया। गाजियाबाद किराना मंडी के अध्यक्ष संजय गर्ग ने बताया कि पूर्व में राज्य सरकार ने इस शुल्क को वापस ले लिया था। उस समय भी व्यापारियों ने बड़े स्तर पर इसका विरोध किया था। लेकिन एक बार फिर प्रदेश सरकार ने किराना के सभी सामानों पर डेढ़ फीसदी मंडी शुल्क लागू कर दिया है। इस शुल्क के लागू होने से सभी किराना वस्तुओं पर महंगाई बढ़ जाएगी। तो वहीं किराना व्यापारियों को भी अधिक शुल्क अदा करना होगा जो पूरी तरह से आमजन के संकट को बढ़ाएगा। धरनारत व्यापारियों ने बढ़े हुए मंडी शुल्क को वापस लेने की मांग की है। साथ ही चेतावनी दी है कि अगर मंडी शुल्क वापस नहीं लिया गया तो बड़े स्तर पर आंदोलन किया जाएगा व सडक़ों पर उतरकर व्यापारी प्रदर्शन करने को मजबूर होंगे। किराना व्यापारियों के समर्थन में अन्य व्यापार संगठन भी आ गए हैं। उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल गाजियाबाद के अध्यक्ष गोपीचंद भी किराना व्यापारियों के धरने में शामिल हुए और उन्हें हरसंभव सहयोग का भरोसा दिया। प्रदर्शन के दौरान किराना व्यापारियों ने अपने-अपने प्रतिष्ठान भी बंद रखे जिसके कारण किराना का सामान लेने वाले लोगों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। प्रदर्शन करने वालों में सुशील चौहान, प्यारेराम गुप्ता, अशोक शर्मा व विनोद गर्ग आदि सैंकड़ों व्यापारी शामिल हुए।