युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। जनपद पुलिस की कार्यशैली को परखने के लिये एसएसपी पवन कुमार ने बीती रात अपना भेस बदलकर इंदिरापुरम थाना पुलिस की नाक के नीचे अहिंसा खंड में किंग कैफे के नाम से चल रहे अय्याशी के अड्ड़े पर छापा मारकर अपने मातहत अधिकारियों को चौंका दिया। बता दें कि कप्तान पवन कुमार द्वारा मारे गये छापे की खबर इंदिरापुरम थाना पुलिस को काफी देर बाद मिली। कप्तान द्वारा की गई छापे मार कार्रवाई की सूचना के बाद जहां इंदिरापुरम थाना पुलिस में हडक़ंप मच गया वहीं कप्तान की अगुवाई में किंग कैफे से शराब, कबाब और अनेक हुक्कों के अलावा अय्याशी व नशे के लिये प्रयोग की जाने वाली सामग्री भी भारी मात्रा में बरामद हुई। इस कार्रवाई के दौरान किंग कैफे के संचालक समेत एक दर्जन से अधिक रईसजादे भी हिरासत में लिये गये। सूत्रों की मानें तो मौके से कई युवतियां व लड़कियों को भी हिरासत में लिया गया लेकिन पुलिस के आला अफसर इस संदर्भ में अनभिज्ञता जताते हुए दिखाई दिए। सूत्रों का यह भी कहना है कि कप्तान ने जिस हुक्का बार पर छापा मारा, उसका संचालन कुछ असरदार लोगों व इंदिरापुरम थाना पुलिस के संरक्षण मे हो रहा था। देर रात हुक्का बार में मारे गये छापे के बारे में कप्तान पवन कुमार ने बताया कि बीती रात उन्हें किसी खास सूत्र ने सूचना दी थी कि अहिंसा खंड में किंग कैफे के नाम से एक हुक्का बार चल रहा है। श्री कुमार ने बताया कि अपने खास एवं पुष्टï सूत्र की सूचना मिलते ही उन्होंने भेस बदला और सूत्र द्वारा बताये गये कैफे पर पहुंच गये। वहां पहुंचने पर उन्होंने पाया कि किंग कैफे में कुछ नवयुवक एवं लडक़े नशा कर रहे थे। उसके बाद उन्होंने पीआरओ व हमराह के साथ वहां मौजूद युवकों एवं अवैध रूप से चले रहे हुक्का बार के प्रबंधक प्रदीप कर्णवाल को हिरासत में लेकर इंदिरापुरम थाना पुलिस को भी मौके पर बुला लिया।