युग करवट ब्यूरो
नई दिल्ली। गाजियाबाद के सांसद एवं केंद्रीय सडक़ परिवहन, राजमार्ग राज्यमंत्री डॉ. जनरल वी.के. सिंह अपने 3 दिवसीय लोकसभा प्रवास कार्यक्रम के लिए कन्याकुमारी गए हुए हैं। उन्हें जब पता चला कि मदुरै-कन्याकुमारी खंड के परियोजना राजमार्ग में 304 किमी सडक़ और पुल का निर्माण कार्य के लगे हुए लोकार्पण शिलापट्ट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फोटो पर कालख पोती और उनके द्वारा उसको तोड़ा भी गया। तो तत्काल वीके सिंह ने लोकार्पण शिलापट्ट पर प्रधानमंत्री की नई फ़ोटो लगवाई और मीडिया के माध्यम से कांग्रेस की इस धूर्तता की आलोचना की। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अपनी तुच्छ मानसिकता को कभी छोड़ नहीं सकती है, वह भारत जोड़ो नहीं भारत तोड़ो यात्रा में लगी है। कांग्रेस को समझना चाहिए कि प्रधानमंत्री एक दल का नहीं पूरे देश का होता है हमें मिलकर उनका सम्मान करना चाहिए।
वीके सिंह ने कहा कि कांग्रेस की कथनी और करनी में हमेशा एक बड़ा अंतर देखने को मिला है। जहां कांग्रेस अपने समय में नारा देती थी गरीबी हटाओ लेकिन काम करती थी गरीब हटाओ के। आज सत्ता में नहीं है लेकिन एक गरीब परिवार के बेटे को प्रधानमंत्री के रूप में कांग्रेस स्वीकार नहीं कर पा रही है। यह पूरी घटना तमिलनाडु कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष के संज्ञान में रहते हुए की गई। उन्होंने सवाल उठाया कि क्या इस काम के लिए राहुल गांधी ने कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को आदेश दिए थे?