गाजियाबाद (युग करवट)। भाजपा की ओर से लोकसभा चुनाव 2024 के लिए प्रत्याशियों के चयन की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। इसके तहत पहले चरण में उन सीटों पर प्रत्याशियों का चयन किया जा रहा है, जहां 2019 के चुनाव में पार्टी को शिकस्त मिली थी। 2019 लोकसभा चुनाव में प्रदेश की अस्सी में 64 सीटों पर भाजपा को जीत मिली थी। बाकी 16 सीटों पर गैर भाजपा दलों को जीत मिली थी। इनमें सपा को पांच, बसपा को दस और कांगे्रस को एक सीट मिली थी। बाद में हुए उप चुनाव में भाजपा ने दो सीटें-आजमगढ़ और रामपुर में जीत दर्ज कर सीटों की संख्या 66 कर दी।
लोकसभा चुनाव 2024 में भाजपा का सबसे ज्यादा फोकस इन 14 सीटों पर रहेगा। इन 14 सीटों में से पश्चिम उत्तर प्रदेश की सहारनपुर, अमरोहा, बिजनौर, मुरादाबाद, संभल, मैनपुरी सीटें हैं। जबकि कांग्रेस को सिर्फ रायबरेली सीट मिली थी। भाजपा ने इन 14 सीटों पर पहले प्रत्याशी के नामों की घोषणा करने की नीति बनाई है। इसी के तहत इस माह के मध्य यानि 15 फरवरी तक इन सीटों पर प्रत्याशियों के नामों की घोषणा कर दी जाएगी।
सूत्रों के अनुसार, भाजपा केंद्रीय नेतृत्व ने इन सीटों पर प्रदेश नेतृत्व से रिपोर्ट मंगा ली है। इन सीटों में उन सीटों पर भाजपा ने ज्यादा फोकस किया है, जहां उसके प्रत्याशियों को अधिक अंतर से हार हुई थी। ऐसी करीब सात सीटें है।
इन 14 सीटों पर भाजपा ने विस्तारकों से रिपोर्ट मिलने के बाद प्रत्याशियों के चयन की प्रक्रिया तेज कर दी है। फरवरी के पहले सप्ताह में नवनियुक्त भाजपा प्रदेश प्रभारी विजयंत पांडा लखनऊ आ रहे हैं। पहले दौर में वे इन 14 सीटों को लेकर प्रदेश नेतृत्व से बात कर अपनी रिपोर्ट केंद्रीय नेतृत्व को सौपेंगे। इसके बाद फरवरी के दूसरे सप्ताह में नामों की घोषणा कर दी जाएगी।