युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। गाजियाबाद नगर निगम के वरिष्ठ पार्षद और भाजपा नेता हिमांशु लव ने नगर विकास मंत्री अरविद शर्मा को पत्र लिखकर साहिबाबाद क्षेत्र को एक अलग नगर निगम के तहत लाने की गुजारिश की है। उन्होंने कहा कि साहिबाबाद विधानसभा क्षेत्र की आबादी 25 लाख है। यहां करीब दस लाख मतदाता है। भारत का यह सबसे बड़ा विधानसभा क्षेत्र है। राष्टï्रीय राजधानी दिल्ली से लगा होने के कारण यहां के लोग इस क्षेत्र का राजधानी के रूप में विकास चाहते हैं।
जनसंख्या का घनत्व अधिक होने के कारण क्षेत्र का समुचित और नागरिकों की आशाओं के अनुरूप विकास नहीं हो पा रहा है। यहां गाजियाबाद विकास प्राधिकरण की ओर से बहुत बड़ी संख्या में बहु मंजिले इमारतें बनाई गई है। जिनमें समुचित तरीके सेे विकास कार्य होना आवश्यक है। गाजियाबाद नगर निगम इस क्षेत्र का समुचित विकास नहीं कर पा रहा है, क्योंकि गाजियाबाद नगर निगम सीमा क्षेत्र काफी बड़ा हो जाता है। उन्होंने पत्र में कहा कि गाजियाबाद नगर निगम सीमा क्षेत्र में गाजियाबाद विधानसभा, साहिबाबाद, मुरादनगर विधानसभा क्षेत्र का आधा भाग आता है।
इस प्रकार गाजियाबाद नगर निगम सीमा क्षेत्र में ढाई विधानसभा क्षेत्र है। उन्होंने कहा कि हिन्डन पार क्षेत्र को एक नया नगर निगम गठित कर समुचित विकास कराया जाना चाहिए। गाजियाबाद नगर निगम को दो हिस्सों में बांट दिया जाना चाहिए ताकि दोनों ही क्षेत्रों का तेजी के साथ विकास हो सके। उन्होंने कहा कि साहिबाबाद क्षेत्र उत्तर प्रदेश का प्रवेश द्वार है इसलिए इसका सुनियोजित ढंग से विकास किया जाना अति आवश्यक हो गया है।