युग करवट संवाददाता
लखनऊ। उत्तर प्रदेश भाजपा के लिए संकट थम नहीं रहा है। प्रदेश के मंत्री रहे स्वामी प्रसाद मौर्य और दारा सिंह चौहान के बाद पार्टी के एक और विधायक ने आज पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। शिकोहाबाद से विधायक मुकेश वर्मा ने गुरुवार को प्रदेश अध्यक्ष को पत्र लिखकर पार्टी से इस्तीफा दे दिया। विधायक मुकेश वर्मा ने कहा है कि मेरे नेता स्वामी प्रसाद मौर्या हैं। पार्टी में दलितों अल्पसंख्यकों को तवज्जों नहीं मिली, इसलिए वे इस्तीफा दे रहे हैं। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह को भेजी गई एक चि_ी में मुकेश वर्मा ने कहा है कि प्रदेश सरकार ने अपने पूरे 5 साल के कार्यकाल के दौरान दलित, पिछड़ों और अल्पसख्यक समुदाय के नेताओं व जनप्रतिनिधियों को कोई तवज्जो नहीं दी, न ही उन्हें उचित सम्मान दिया गया। फिरोजाबाद की शिकोहाबाद सीट से इस्तीफा देने वाले भाजपा विधायक मुकेश वर्मा ने ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने बाबा साहब अंबेडकर के बनाए संविधान की व्यवस्थाओं पर कुठाराघात किया है। न तो दलितों का हित, न शोषितों का हित, न पिछड़ों का हित, न अल्पसंख्यक का हित, केवल और केवल अपने हित में लगे हुए हैं।