प्रमुख अपराध संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। ‘जिसे मैने बच्चे की तरह रखा और सबसे अधिक विश्वास किया, उसने ही मेरे साथ इतना बड़ा विश्वासघात किया, जिसकी क्षतिपूर्ति अब संभव ही नहीं है। उक्त बातें कौशांबी थाना क्षेत्र की रामप्रस्था कॉलोनी में रहने वाले नामचीन सीए प्रदीप मांगलिक ने पुलिस अधिकारियों के सामने कहीं। श्री मांगलिक ने पुलिस को तहरीर देते हुए बताया कि झारखण्ड का रहने वाला उमेश यादव उनके पास उस समय आया था, जब वो बहुत छोटा था। उमेश को न केवल उन्होंने अपने पास काम पर रखा, बल्कि वह उसे बेटे की तरह भी मानते थे। लेकिन, उमेश यादव उनके साथ विश्वासघात करके ऑफिस में रखे ५० लाख रुपऐ चुराकर चंपत हो गया। पुलिस ने उमेश की गिरफ्तारी के लिये कई टीम बनाकर उसके ठिकानों व घर पर दबिश देने की कवायद भी शुरू कर दी। इस घटना के संदर्भ में एसपी सिटी सैकेंड ज्ञानेंद्र सिंह ने बताया कि पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज करके इस मामले की जांच कई ऐंगल पर शुरू कर दी है।