प्रमुख अपराध संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। निवाड़ी थाना क्षेत्र के गांव अबुपुर में रहने वाले ओमवीर प्रजापति को भतीजे सोनू प्रजापति द्वारा अपनी पत्नी को आये दिन पीटे जाने के मामले में हस्तक्षेप करना उस समय भारी पड़ गया, जब मोनू व गौरव नामक भतीजे ने उसे गोलियों से भूनकर मौत के घाट उतार दिया। चाचा की हत्या करने के बाद हत्यारे हवा में तमंचें लहराते हुए वहां से फरार हो गये। उक्त सनसनीखेज वारदात की सूचना मिलने के बाद निवाड़ी एसओ मनोज कुमार सहित पुलिस के आला अफसर भी घटनास्थल पर पहुंच गये। इस संदर्भ में एसपी देहात डॉक्टर इरज राजा ने बताया कि हत्या की वारदात की प्राथमिक जांच के दौरान जो तथ्य सामने आये हैं उनसे पता चला है कि अबुपुर गांव में रहने वाला ओमवीर प्रजापति अपने भतीजे सोनू द्वारा भतीज बहू को आए दिन मारने-पीटने से रोकता था। जिस वजह से उसके भाई भागमल प्रजापति के तीनों पुत्र सोनू, मोनू व गौरव प्रजापति ओमवीर से रंजिश रखने लगे थे। इसी रंजिश के चलते उन्होंने अपने चाचा को गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया। श्री राजा ने बताया कि हत्याभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिये जहां पुलिस की कई टीम उनके संभावित ठिकानों व रिश्तेदारों के यहां दबिश दे रही हैं, वहीं कई को हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ भी कर रही है। श्री राजा ने बताया कि सोनू ने अपने दो भाईयों के साथ मिलकर हापुड़ जिले के गांव छज्जूपुर में रहने वाले साले की हत्या भी इसीलिये कर दी थी कि वह अपनी बहन के हक के लिये लड़ रहा था।