नोएडा (युग करवट)। ब्रिटेन में संपत्ति दिलाने के नाम पर साइबर ठगों ने एक व्यक्ति से 60 लाख रुपए ठग लिया। इस मामले की जांच कर रही साइबर क्राइम थाना पुलिस ने आज तीन ऐसे लोगों को गिरफ्तार किया है, जिनके खाते में पैसे ट्रांसफर कराए गए थे। जांच के दौरान पुलिस को पता चला है कि ये लोग मोटी रकम लेकर साइबर ठगों को अपना बैंक का खाता उपलब्ध कराते हैं। तीनों आरोपी जनपद बरेली के कैथल गांव के रहने वाले हैं। बताया जा रहा है कि इस गांव के काफी लोग साइबर ठगों को अपना अकाउंट उपलब्ध करा रहे हैं। उत्तर प्रदेश साइबर क्राइम के पुलिस अधीक्षक डॉ. त्रिवेणी सिंह ने बताया कि तरुण बार्ष्णेय नामक एक व्यक्ति ने नोएडा के सेक्टर 36 स्थित साइबर क्राइम थाने में मुकदमा दर्ज कराया था, कि कुछ लोगों ने उससे संपर्क किया तथा ब्रिटेन में उसे जमीन देने के नाम पर बातचीत की। उन्होंने बताया कि आरोपियों ने उन्हें बताया कि उनके नाम का एक व्यक्ति ब्रिटेन में रहता था, जिसकी मौत हो गई है। उन्होंने बताया कि फोन करने वाले ठगों ने उन्हें आश्वस्त किया कि मृतक की अकूत संपत्ति उनके नाम करा देंगे।
उन्होंने बताया कि ठगों ने तरुण से विभिन्न खातों में करीब 60 लाख रुपए डलवा लिया। बाद में तरुण को पता चला कि उनके साथ ठगी हुई है। उन्होंने इस बाबत साइबरक्राइम थाने में मुकदमा दर्ज कराया। मामले की जांच कर रही साइबर क्राइम थाने के प्रभारी निरीक्षक रीता यादव तथा उनकी टीम के लोगों ने आज अलीमुद्दीन, अनिस तथा असलीम नामक तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। तीनों जनपद बरेली के रहने वाले हैं। उन्होंने बताया कि साइबर ठगो ने रकम इन्हीं के खातों में तरुण से मंगवाई थी। उन्होंने बताया कि पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला है कि गिरफ्तार आरोपियों में असलीम साइबर ठगों को खाता उपलब्ध करवाने का काम करता है। उन्होंने बताया कि जांच के दौरान पता चला है कि जनपद बरेली के कैथल गांव के काफी लोग साइबर ठगों को अपने बैंक का खाता उपलब्ध करा रहे है।