युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। किसी अस्पताल द्वारा मरीज को भर्ती करने से इंकार न करने के निर्देशों के बाद भी मरीजों को अस्पतालों से लौटाया जा रहा है। संयुक्त अस्पताल में कुछ लोग अपने एक मरीज को लेकर पहुंचे। लेकिन किसी भी स्टाफ ने भर्ती करना तो दूर उसे अटैंड तक नहीं किया।
परिजन कुछ देर तक इधर से उधर मद्द के लिए भटकते रहे, स्टाफ से देख लेने की गुहार लगाते रहे लेकिन काफी मशक्कत के बाद भी किसी ने उपचार तक नहीं दिया। धूप और गर्मी के चलते बुजुर्ग अस्पताल परिसर में ही बेहोश हो गया लेकिन इसके बाद भी स्टाफ ने उसे अटेंड नहीं किया। इसके बाद परिजन बेहोशी की हालत में ही उसे कंधे पर लेकर दूसरे अस्पताल की ओर चल दिए। यह हालात जिले के सरकारी अस्पताल के हैं तो वहीं निजी अस्पतालों में क्या स्थिति होगी, इसका अंदाज़ा लगाया जा सकता है।