ग्रेटर नोएडा (युग करवट)। ग्रेटर नोएडा के ओएसडी संतोष कुमार अचानक ग्रेटर नोएडा वेस्ट स्थित बिसरख गांव पहुंचे। इस दौरान गांव में सफाई व्यवस्था चौपट दिखीं। सफाई से जुड़ा स्टाफ नदारद मिला। ओएसडी गांव की हालत देखकर कॉन्ट्रैक्टर पर बिफर पड़ेे। उन्होंने संबंधित फर्म आरआर फैसिलिटी पर 50 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया।
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ एनजी रवि कुमार कि निर्देश पर ओएसडी स्वास्थ्य संतोष कुमार अपनी टीम के साथ रोजाना गांवों व सेक्टरों में सफाई व्यवस्था का जायजा ले रहे हैं। ओएसडी स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ प्रबंधक नथोली सिंह व अन्य टीम के साथ बिसरख पहुंचे। ओएसडी ने गांव की सफाई व्यवस्था का जायजा लिया। ओएसडी ने ग्रामीणों से सफाई स्टाफ के बारे में जानकारी ली। ग्रामीणों ने नियमित सफाई न होने की बात कही। ओएसडी के भ्रमण के दौरान भी कॉन्ट्रैक्टर का सफाई स्टाफ नदारद मिला, जिस पर ओएसडी ने संबंधित फर्म पर 50 हजार रुपये का जुर्माना लगाया। ग्रामीणों ने बताया कि गांव में पानी और सीवर की सुविधा नहीं मिल रही। निरीक्षण के दौरान ओएसडी को गांव की नालियां भी टूटी दिखीं। नालियों में पॉलिथीन और सिल्ट भरी हुई थी। पानी ओवरफ्लो होता दिखा। ओएसडी ने इसकी जानकारी परियोजना विभाग को दी है। साथ ही गांव की समस्या से सीनियर अधिकारियों को भी अवगत करा दिया है।
ओएसडी का कहा है कि शहर की सफाई व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए बिना पूर्व सूचना के औचक निरीक्षण का अभियान आगे भी जारी रहेगा।