युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। हाईटेक सिटी में बिल्डर के नए खेल से किसान परेशान है। यहां के किसानों का सीधा कहना है कि जिस जमीन को बिल्डर ने नहीं खरीदा है उस पर भी वह कब्जा कर निर्माण कार्य कर रहा है। इसी को लेकर हाईटेक सिटी के किसान लामबंद हो रहे है। जानकारों का मानना है कि अगर इसका कोई रास्ता नहीं निकाला गया तो जल्दी ही एक बड़ा किसान आंदोलन हो सकता है। इस मामले में जीडीए की भी टेंशन बढ़ सकती है। हाईटेक सिटी योजना के लिए दो कंपनियों को लाइसेंस मिला है। दोनों कंपनियां अभी तक कई सौ एकड़ जमीन की किसानों से सीधी खरीद कर चुकी है। किसान बिल्डरों को जमीन दे भी रहे है। मगर इस दौरान कई और नई समस्याओं का सामना भी किसान कर रहे है। यह नई समस्याएं किसानों के लिए नई तरह की चुनौती पेश की जा रही है। किसानों का आरोप है कि काफी ऐसे किसान है जो बिल्डर के व्यवहार से परेशान है। बिल्डर अपनी योजना में किसानों की जमीन शामिल कर रहा है। कई तो ऐसे किसान है जिनकी जमीन का मुआवजा भी नहीं दिया गया है। ऐसे किसान परेशान है और वह बिल्डर से अपनी जमीन की मुक्ति चाहते है। जिन किसानों ने अपनी जमीन बिल्डर को दी है उसका पैसा भी किसानों को नहीं दिया जा रहा है।