युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। भीषण गर्मी के साथ हो रही बिजली कटौती को लेकर लोगों का आक्रोश बढ़ता जा रहा है। बिजली कटौती के विरोध को लेकर जिले के ११ गांवों के लोगों ने जिला मुख्यालय में प्रदर्शन कर बिजली कर्मचारियों पर अवैध उगाही का आरोप लगाया। दरअसल गांव सादात नगर, इकला, इनायतपुर, रघुनाथ पुर, पूठी, गुर्जरगढ़ी, भोजपुर कचैड़ा, नायफल, हसनपुर, कुडियागढ़ी, भूडगढ़ी, राजीवपुरम को बिजली सप्लाई रघुनाथपुर डासना बिजलीघर से की जाती है। ग्रामीणों का आरोप है कि आए दिन बिजली गुल रहती है। उस पर बिजली कर्मचारी गलत बिल बनाकर उनसे अवैध उगाही करते हैं और उगाही न देने पर तरह-तरह की धमकी देते हैं। ग्रामीणों ने आरोप लगाया है कि हर घर मीटर लगने से मजदूर किसानों से उसकी आड़ में कर्मचारी उगाही कर रहे हैं। पहले गलत बिल भेजे जाते हैं, फिर उन्हें ठीक कराने पर पैसा लिया जाता है। ग्रामीणों ने नई नीति को बंद कर पुरानी नीति फिक्स बिल किए जाने की मांग डीएम के माध्यम से प्रदेश के मुख्यमंत्री से की है। साथ ही मकान मालिक की गैर मौजूदगी में घर में घुसकर मीटर लगाने वाले कर्मचारियों पर भी कार्रवाई की मांग की है। प्रदर्शन करने वालों में टीकम नागर धर्मवीर, करन सिंह, राजीव कुमार, खेमचंद शर्मा, देवेन्द्र नागर, आदेश नागर, बलवंत सिंह, सुन्दर, रणजीत, धनतर, विजयपाल, रामनिवास, राकेश कुमार, कवर सिंह, वीरेन्द्र, वीरपाल शर्मा, प्रमोद नागर, आनंद पार्षद, सोनू प्रधान, सुभाष प्रधान, रवि कुमार आदि शामिल रहे।