युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। जनपद गाजियाबाद की बिगड़ती चिकित्सा व्यवस्था के विरोध में आज रालोद के महानगर अध्यक्ष अरुण चौधरी भुल्लन के नेतृत्व में कलक्ट्रेट पर जोरदार प्रदर्शन किया गया। प्रदर्शन के दौरान रालोद नेताओं ने एक ज्ञापन भी जिला प्रशासन को प्रेषित किया।
प्रदर्शन के दौरान रालोद के जिलाध्यक्ष चौधरी तेजपाल सिंह ने कहा कि गाजियबाद के विधायक सरकार में मंत्री पद पर आसीन हैं। उनके कंधों पर प्रदेश भर की चिकित्सा व्यवस्था की जिम्मेदारी है। प्रदेश से मिली इस जिम्मेदारी के कारण शायद स्वास्थ्य मंत्री गाजियाबाद जनपद पर ध्यान देना ही भूल गए हैं। इस कारण गाजियबाद के सरकारी अस्पतलों में खामियां ही खामियां हैं। महानगर अध्यक्ष अरुण चौधरी भुल्लन ने कहा कि सरकारी अस्पतालों में डॉक्टरों की कमी होने के कारण लोगों को बिना उपचार कराए ही वापस लौटना पड़ता है। ऑपरेशन के लिए सरकारी अस्पतालों में डॉक्टर्स द्वारा लिए जाने वाला सुविधा शुल्क भी चर्चाओं में है।
ईएमओ के सहारे सरकारी अस्पताल की इमरजेंसी चल रही है, अब वे छुट्टी पर जा रहे हैं जिस कारण आपातकालीन सेवाएं बंद हो सकती हैं। प्रदर्शन के दौरान डॉ. अजय चौधरी, प्रीतम लाल, लोकेश चौधरी, हिमांशु नागर, भूपेंद्र बॉबी, हिमांशु तेवतिया, अरविंद तेवतिया, विशाल सिरोही, रजत धीमान, नितिन चौधरी, संगीता चौधरी, रवि हरित, जितेंद्र मोनू, कुलदीप चौधरी, लोकेश कटारिया, राजेंद्र चौधरी, रविंद्र चौधरी, सौरव डागर, ऋषभ पंाचाल, दीपू शर्मा, संजय सांगवान, सचिन दीवानिया, कालूराम अग्रवाल, नरेन्द्र चौधरी, अजय तेवतिया, अमित गुर्जर, राजीव जाटव, नीरज सिंह, मनी, आजाद खान, शिवम् पांडेय, बॉबी पंडित, गौरव कनौजिया, दीपू शर्मा, बबलू, निकिता, सचिन, रोहित, यशपाल सिंह, विवेक यादव, मनी समेत बड़ी संख्या में रालोद कार्यकर्ता मौजूद रहे।