युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। आज तड़के शुरू हुई तेज बारिश के चलते शहर की सड़कें, मुख्य मार्गों से लेकर गली-मौहल्ले व पॉश कॉलोनियां तक जलमग्न हो गईं। यहां तक कि जलभराव से नगरायुक्त आवास भी नहीं बचा और पॉश कॉलोनी में स्थित आवास की पूरी सड़क जलमग्न हो गई। मंगलवार से शुरू हुई बारिश बुधवार को भी जारी रही। रात भर रूक-रूक कर बारिश होती रही लेकिन सुबह सात बजे से ही तेज बारिश शुरू हो गई। करीब पांच घंटे की तेज बारिश ने जगह-जगह जलभराव कर दिया। यहां तक कि गली मौहल्ले में भी कई फीट पानी भरने से लोगों के घरों तक में पानी भर गया। निचले इलाकों में बने मकानों के अंदर तक बारिश का पानी पहुंचने से लोगों को मुश्किलों का सामना करना पड़ा। यही हाल शहर की मुख्य सड़कों का भी रहा। टीएचए से लेकर मुख्य शहरी क्षेत्र की शायद ही कोई प्रमुख सड़क बची होगी जहां जलभराव नहीं हुआ होगा। मुख्य सड़कों पर पानी भर जाने से वाहनों का लंबा जाम लग गया। जीटी रोड से लेकर मेरठ रोड, हापुड़ रोड पर भी वाहनों की लंबी कतारें लगी रहीं। दो पहिया वाहन चालक छोटी सड़कों पर जलभराव के कारण मुख्य सड़कों पर आ गए जिसकी वजह से जाम की स्थिति बनी रही। तो वहीं गौशाला अंडर ब्रिज भी बारिश के पानी में डूब गया। पानी में दो गाडिय़ां भी फंस गईं जिसे बड़ी मशक्कत के बाद निकाला गया। पुराने शहर की गलियों में तो जलभराव हुआ ही, साथ ही पॉश कॉलोनियों में भी पानी भर जाने से लोगों को आवागमन में दिक्कतों का सामना करना पड़ा। सिहानी गेट कोतवाली परिसर में भी बारिश का पानी भरने से फरियादियों और स्टाफ को परेशानियां उठानी पड़ीं। इसके अलावा आरडीसी की मुख्य सड़कें, बीएसएनएल विभाग, लोहिया नगर, पुराना बस अड्डा, जीडीए फ्लाईओवर रोड, नवयुग मार्केट, नेहरूनगर स्थित मार्बल मार्केट, नगरायुक्त आवास, मालीवाड़ा, कविनगर स्थित नर्सरी रोड, टीएचए की प्रमुख सड़कों और कॉलोनियों में भी जलभराव की स्थिति बनी रही। बारिश के कारण शहर के अधिकतर पार्क भी पानी से पूरी तरह भर गए।