राष्टï्रपति व प्रधानमंत्री ने घटना पर जताया दुख, दो-दो लाख रुपए की सहायता दी जाएगी
युग करवट ब्यूरो
लखनऊ। बाराबंकी में भीषण सड़क हादसे में 18 लोगों की मौत हो गई है। जबकि दर्जन से ज्यादा लोग घायल है। घायलों को सरकारी और निजी अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। एक बस को पीछे से एक ट्रक ने जोरदार टक्कर मार दी। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि लाशें सड़कों पर बिखर गईं।
यह हादसा बाराबंकी के रामसनेही घाट के पास अयोध्या-लखनऊ हाइवे पर आधी रात को हुआ है। बताया जा रहा है कि बस हरियाणा के पलवल से बिहार जा रही थी। बस में ज्यादातर मजदूर सवार थे, जो बिहार लौट रहे थे। बस में लगभग 140 यात्री सवार थे, जिनमें से 18 की मौके पर ही मौत हो गई. घायल ने बताया कि मृतक सभी मजदूर सभी पंजाब और हरियाणा में मजदूरी करते थे और अपने घर बिहार लौट रहे थे।
वहीं प्रधानमंत्री मोदी ने हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों को दो लाख रुपये और घायलों को पचास हजार रुपये के मुआवजे का ऐलान किया है। इस हादसे को लेकर प्रधानमंत्री मोदी ने मुख्यमंत्री योगी से बात की है और घायलों को सभी संभव इलाज देने को कहा है। प्रधानमंत्री ने मारे गए लोगों के परिजनों के प्रति अपनी संवेदना जाहिर की है। मुख्यमंत्री योगी ने भी दुख जाहिर किया है। मुख्यमंत्री ने बाराबंकी के डीएम और एसपी को हादसे के शिकार लोगों को बेहतर इलाज और उनके गंतव्य स्थानों तक पहुंचने की व्यवस्था कराने के निर्देश दिए हैं। राष्टï्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट कर कहा कि, बाराबंकी, उत्तर प्रदेश में हुए सड़क हादसे में अनेक लोगों की असमय मृत्यु की खबर से अत्यंत पीड़ा हुई है।
बाराबंकी के एसपी यमुना प्रसाद ने बताया कि बस का एक्सल टूटने की वजह से यह थाना रामसनेहीघाट के ढाबे के पास खड़ी हुई थी। तभी रात में पीछे से आ रहे तेज रफ्तार एक ट्रक ने टक्कर मार दी। जिसमें 18 लोगों की मौत हो गई है. दो दर्जन से ज्यादा लोग घायल हैं। सभी का बाराबंकी और लखनऊ के ट्रामा सेंटर में इलाज चल रहा है। ये सभी हरियाणा से बिहार जा रहे थे। मारे गए मजदूर बिहार के सीतामढ़ी, दरभंगा और बाकी जगहों से थे।
घटनास्थल पर एडीजी एसएन साबत और एसपी यमुना प्रसाद पहुंच चुके हैं। हादसे में मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है, क्योंकि कुछ लाशें गाड़ी के नीचे दबे होने की आशंका है। जेसीबी के जरिए रेस्क्यू किया जा रहा है। इस मामले में अभी तक केस दर्ज नहीं किया गया है।