प्रमुख संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। क्रॉसिंग के पास बायो सीएनजी प्लांट तीन एकड़ जमीन में लगाया जाएगा। इस प्लांट को लगाने के लिए कंपनियों को अपना प्लान देना है। इस प्लान को देने की आज अंतिम तारीख है। गाजियाबाद नगर निगम यूपी का ऐसा पहला नगर निगम बनने जा रहा है। जहां गीले कचरे का यूज बायो सीएनजी बनाने में किया जाएगा। इसके लिए पीएफआर यानी प्रॉजेक्ट फॉर रिक्वेस्ट मांगी गई है। इसके लिए नगर निगम ने कई दिन पहले ही पीएफआर मांगी है। नगर निगम में पीएफआर के लिए आज अंतिम दिन है। आज रात 12 बजे तक पीएफआर नगर निगम की वेबसाइट पर लोड की जा सकती है। इसके बाद नगर निगम देखेगा कि कौन ऐसी कंपनी है जो उनकी शर्त के आधार पर बायो सीएनजी प्लांट लगाएगी। निगम प्रशासन बायो सीएनजी प्लांट बनाने के लिए प्राइवेट कंपनी को तीन एकड़ जमीन देगी। यह जमीन क्रॉसिंग के पास दी जाएगी। इस सीएनजी के एक प्लांट में हर रोज करीब तीन सौ टन गीला कूड़ा चाहिएगा। जिससे हर रोज 10 से 15 टन सीएनजी बनेगी।