युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा निजी स्कूलों को दस फीसदी फीस वृद्घि का निर्देश दिए जाने के विरोध में गाजियाबाद पेरेंट्स एसोसिएशन ने जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन किया। जीपीए ने डीएम के माध्यम से सीएम के नाम ज्ञापन सौंपकर इस निर्णय को वापस लेने की मांग की।
एसोसिएशन ने अपने ज्ञापन में कहा है पिछले दो साल से सैंकड़ो अभिभावक आर्थिक मंदी से जूझ रहे हैं। कोविड के दौरान भी स्कूलों ने पूरी फीस वसूली थी। अब जीवन थोड़ा पटरी पर आना शुरू हुआ तो सरकार ने दस फीसदी की फीस वृृद्घि का आदेश देकर स्कूलों को लूट जैसी छूट दे दी है।
एसोसिएशन ने कहा कि किताब-कॉपियों के नाम पर पहले से ही स्कूल लूट कर रहे हैं। ऐसे में फीस वृद्घि कर अभिभावकों को सरकार ने आर्थिक मार दी है। एसोएिसशन ने मांग की है कि तत्काल फीस वृद्घि को वापस लेकर अभिभावकों को राहत दी जाए व कोरोना की चौथी लहर को देखते हुए ऑनलाइन क्लास के अनुसार फीस का निर्धारण किया जाए। प्रदर्शन करने वालों में सीमा त्यागी, रोशन, विपिन त्यागी, ज्योति, विनय, विवेक त्यागी आदि मौजूद रहे।