प्रमुख अपराध संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। एक मई की रात लगभग आठ बजे के आस-पास सिकरोड निवासी देवेंद्र शर्मा के कारोबारी पुत्र योगेंद्र शर्मा उर्फ गोलू शर्मा का अपहरण करके अपहरणकर्ताओं ने उसकी हत्या कर दी थी। हत्या करने के बाद हत्यारों ने गोलू शर्मा के शव को दौराला थाना क्षेत्र के गांव सिवाया में स्थित खाली प्लॉट में दबा दिया था। उक्त सनसनीखेज वारदात की सूचना मिलते ही नन्दग्राम थाना पुलिस ने जहां तत्काल रिपोर्ट दर्ज कर ली थी वहीं कारोबारी की बरामदगी के प्रयास भी शुरू कर दिये थे। जांच के दौरान नन्दग्राम थाने के एसएचओ धर्मपाल सिंह की टीम ने जब अपहृत कारोबारी गोलू शर्मा के किरायेदार विकास जाटव निवासी हापुड़ को पूछताछ के लिये उठाया तो उसने बताया कि योगेंद्र शर्मा की हत्या करके उसने अपने तीन साथियों के साथ उसके शव को सिवाया गांव के पास दफन कर दिया है। उसके बाद नन्दग्राम थाना पुलिस विकास जाटव व मनीष आदि को लेकर दौराला थाना पुलिस के साथ हत्यारों के द्वारा बताये गये स्थान पर पहुंची। जिसके बाद हत्यारों की निशानदेही पर गोलू शर्मा के शव को जमीन खोदकर बरामद कर लिया। पूछताछ के दौरान विकास जाटव ने बताया कि उसने अपने साथी मनीष व रोहित आदि के साथ गोलू का अपहरण यह सोचकर कर लिया था कि वो उसके परिजनों से मोटी फिरौती वसूल लेंगे। लेकिन किसी वजह से गोलू की हत्या फिरौती वसूलने से पहले ही करनी पड़ गई। इस वारदात का खुलासा करते हुए नन्दग्राम थाना पुलिस ने विकास जाटव, मनीष व रोहित को गिरफ्तार कर लिया। उसके बाद पुलिस ने गोलू शर्मा का पोस्टमार्टम करवाकर उसके शव को परिजनों के सपूर्द कर दिया।