गाजियाबाद। ट्रोनिका सिटी थाना क्षेत्र की पूजा कॉलोनी में रहने वाला दीपक नामक युवक ठेली लगाकर फल बेचता था। उसका शव झाडिय़ों में पड़ा मिला था। फल विक्रेता दीपक के शव को पोस्टमार्टम के लिये भिजवाकर ट्रोनिका सिटी के एसएचओ संदीप सिंह ने मौत की वजह करंट लगना बताया था। दूसरी और दीपक के परिजनों ने एसएचओ के दावे को एकसिरे से खारिज करते हुए बताया कि उसकी मौत करंट लगने से नहीं हुई बल्कि उसकी हत्या करने के बाद हत्यारों ने उसके शव झाडिय़ों में फेंक दिया। बहराल दीपक की मौत करंट लगने से हुई या फिर उसकी हत्या की गई पुलिस घटना के दो दिन बाद भी फल विक्रेता की मौत की गुत्थी को नहीं सुलझा पाई है।