युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के आह्वïान पर सभी स्वास्थ्य कर्मियों को प्रोत्साहन राशि ना दिए जाने को लेकर काला फीता बांधकर कर्मियों ने विरोध जताया।
स्वास्थ्य कर्मियों ने जिला अस्पताल, संयुक्त अस्पताल, जिला महिला अस्पताल, सभी सीएचसी, पीएचसी व स्वास्थ्य केंद्रों पर काला फीता बांधकर कार्य किया। स्वास्थ्य कर्मियों ने विरोध के दौरान प्रदेश सरकार से सभी स्वास्थ्य कर्मियों को प्रोत्साहन राशि और उनके परिजनों का प्राथमिकता पर वैक्सीनेशन एवं कोविड से मृतकों के आश्रितों को ५० लाख रुपये की धनराशि दिए जाने की मांग रखी। जिला मंत्री राजकुमार सिंह ने कहा कि इस मामले में पूर्व में अपर मुख्य सचिव चिकित्सा को आवेदन दिया गया था लेकिन सरकार की ओर से कोई कदम नहीं उठाए जा रहे हैं। वरिष्ठ उपाध्यक्ष नरेन्द्र कुमार शर्मा ने बताया कि सीएम की घोषणा के विपरीत छह मई को प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा द्वारा कोविड-१९ संक्रमित मरीजों के उपचार में जुटे डॉक्टर्स व पैरामेडिकल स्टाफ व सफाई कर्मियों को मूल वेतन में २५ फीसदी व कोविड सैंपल की जांच में जुटे व अन्य संबंधित क्षेत्रों में तैनात कर्मियों को दस फीसदी अतिरिक्त धनराशि का भुगतान किए जाने का ऐलान किया था। जबकि नॉन कोविड चिकित्सालयों में तैनात कर्मचारी भी भारी संख्या में संक्रमित हुए हैं और कई की जान भी गई है। ऐसे में सभी स्वास्थ्य कर्मियों को प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाए, इसको लेकर आज विरोध प्रदर्शन किया गया। प्रदर्शन में डिप्लोमा फार्मेसिस्ट संघ के अध्यक्ष एसपी वर्मा, लैब टैक्नीशियन एसोसिएशन के अध्यक्ष अरूण तोमर, राजकीय नर्सेस संघ की हिना विक्टर सहित विभिन्न विभागों के पदाधिकारियों ने समर्थन दिया।