युग करवट ब्यूरो
मेरठ। मेरठ में प्रापर्टी डीलर को धमकाकर एक लाख रुपये वसूली करने के मामले में सिपाहियों के साथ एक दारोगा का नाम भी सामने आया है। कप्तान ने तीनों को निलंबित कर दिया है, जबकि एक सिपाही पर मुकदमा दर्ज हो चुका है।
दारोगा और दोनों सिपाही फरार हैं, जिनकी तलाश में पुलिस की एक टीम लगी हुई है। वहीं, दोरागा के खिलाफ रिपोर्ट तैयार हो गई है। लिसाड़ी गेट के श्याम नगर निवासी साजिद प्रापर्टी डीलर हैं। उन्होंने थाने में तैनात सिपाही सुमित की एसएसपी से शिकायत की थी। आरोप था कि सुमित ने जेल भेजने के नाम पर उनसे एक लाख रुपये वसूल कर लिए थे। इसकी जांच कप्तान रोहित सजवाण ने सीओ कोतवाली अरविंद चौरसिया को दी थी। जांच के दौरान आरोप सही पाए गए थे, जिसकी रिपोर्ट सीओ ने कप्तान को सौंप दी थी।
उन्होंने सुमित के खिलाफ लिसाड़ी गेट थाने में रिपोर्ट दर्ज करा दी थी। साथ ही उसे निलंबित कर दिया था। सीओ ने बताया कि जांच के दौरान पता चला कि उसका साथ सिपाही जितेंद्र कुमार और दारोगा अमित जावला ने दिया था, जिसके बारे में एसएसपी को बता दिया था। कप्तान ने रविवार को सिपाही और दारोगा को निलंबित कर दिया। हालांकि तीनों आरोपित फरार हैं, जिनकी तलाश के लिए एक टीम लगी हुई है। जल्द ही उनको पकड़ लिया जाएगा।