प्रमुख अपराध संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। एसपी देहात डॉक्टर इरज राजा के निर्देशन में लोनी थाने के एसएचओ अजय चौधरी की टीम ने एक ऐसे मर्डर का खुलासा किया है, जो तीन साल पहले यानि १७ जुलाई २०१९ को लोनी क्षेत्र में हुआ था। इस खुलासे के दौरान अपनी प्रेमिका सीमा को डीजल छिडक़र जिन्दा जलाकर मौत के घाट उतारने वाले हत्याभियुक्त धनराज उर्फ मोनू निवासी बागपत को गिरफ्तार कर लिया। सूत्रों के मुताबिक पुलिस की गिरफ्त में आये धनराज उर्फ मोनू के ऊपर पुलिस प्रशासन ने २० हजार का इनाम भी घोषित किया था। एसपी देहात डॉक्टर इरज राजा निरंतर इस हत्या की गुत्थी को सुलझाने के लिये न केवल पुलिस पर दवाब बना रहे थे बल्कि, खुद भी उक्त मर्डर केस के खुलासे के लिये प्रयत्नशील थे। श्री राजा की मुहिम उस समय सफल हो गई, जब मुखबिर की सूचना के बाद कातिल को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस सूत्रों के मुताबिक धनराज उर्फ मोनू ने सीमा की हत्या के कारण का खुलासा करते हुए बताया कि वो और सीमा दिल्ली हर्ष विहार में स्थित एक कंपनी में साथ-साथ जॉब करते थे। तभी दोनों में प्यार हो गया और वेे लोनी में किराये का मकान लेकर पति-पत्नी की तरह रहने लगे। सीमा द्वारा शादी का दवाब बनाने की वजह से उसने सीमा को ठिकाने लगाने की योजना बनाई और १७ जुलाई २०१९ को उसपर डीजल डालकर जिंदा जला दिया। इसके बाद सीमा की लाश को वहीं छोडक़र फरार हो गया। धनराज ने बताया कि उसने पुलिस से बचने के लिये कई तरह के भेष भी बदले थे।