युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। शहर में लाइट लगाकर उसे रोशन करने के लिए निगम प्रशासन ने कोशिश तेज कर दी है। हालांकि नगर निगम के पास स्टाफ की कमी है। इस कमी को भी नगर निगम प्रशासन ने दूर कर दिया है। निगम निगम शहर में करीब आठ हजार लाइट प्राइवेट कंपनी के माध्यम से बदलवाने जा रहा है। इसके लिए नगर निगम प्रत्येक लाइट नई लगाने के लिए करीब साढ़े चार सौ रुपये देगा। शहर की करीब आठ हजार स्ट्रीट लाइट बदलने का कार्य किया जाना है। इसके लिए निगम प्राइवेट कंपनी को करीब 36 लाख रुपये देगा। शहर में पहले स्ट्रीट लाइट लगाने का कार्य व्हाईट प्ले कार्ड कंपनी को दिया गया था। बाद में कंपनी ने स्ट्रीट लाइट लगाने का काम छोड़ दिया। अब नगर निगम और कंपनी के बीच विवाद कोर्ट में चल रहा है। नगर निगम अभी तक रखरखाव का कार्य खुद ही कर रहा था। अब नगर निगम को शहर में करीब आठ हजार स्ट्रीट लाइट नई लगानी है। निगम के पास अभी तक स्टाफ की कमी है। इस कमी को नगर निगम दूर नहीं कर पाया है। ऐसे में नगर निगम प्रशासन अब प्राइवेट कंपनी की मदद से शहर में करीब 8 हजार हाईमास्ट लाइट नई लगाने जा रहा है। इसके लिए नगर निगम प्राइवेट कंपनी को साढ़े चार सौ रुपये प्रति लाइट के हिसाब से भुगतान करेगा। आठ हजार लाइट लगाने पर कंपनी को नगर निगम करीब 36 लाख रुपये का भुगतान करेगा।