नई दिल्ली। प्रसिद्ध पर्यावरणविद् सुंदरलाल बहुगुणा नहीं रहे। कोरोना संक्रमण की चपेट में आए 94 बहुगुणा का नौ मई से ऋषिकेश स्थित एम्स में उपचार चल रहा था। शुक्रवार को उन्होंने अंतिम सांस ली। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने पर्यावरणविद् बहुगुणा के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया।
उनका अंतिम संस्कार ऋषिकेश गंगा तट पर शुक्रवार को ही पूरे राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा। चिपको आंदोलन के लिए सुंदरलाल बहुगुणा जाने जाते रहेंगे।