लखनऊ (युग करवट)। मैनुपरी उपचुनाव में मिली डिंपल यादव की जीत ने चाचा-भतीजे के बीच की खाई को खत्म करा दिया है। बीते विधानसभा चुनाव के बाद से ही शिवपाल यादव की सपा में अनदेखी शुरू हो गई थी। शिवपाल यादव ने कई मौकों पर खुलकर नाराजगी जताई थी। यहां तक कि उनके भाजपा में जाने की चर्चा भी शुरू हो गई थी। मैनपुरी उपचुनाव में डिंपल को जीत दिलाने के लिए पूरा परिवार एक हो गया था। आज परिणाम आने के बाद शिवपाल अखिलेश के घर के पहुंचे और प्रसपा के सपा में विलय होने की बात कही गई।