गाजियाबाद (युग करवट)। समाजसेवी एवं नवीन हॉस्पिटल के ग्रुप मेडिकल डायरेक्टर डॉ. अनिल तोमर ने कल युग करवट के एडिटर इन चीफ सलामत मियां को ‘युग करवट’ की प्रथम कॉपी यानी प्रवेशांक प्रति जिसमें सभी अतिथियों के हस्ताक्षर थे सौंपी। १२ अगस्त २००७ को युग करवट का विमोचन हुआ था। इस कॉपी को यादगार के तौर पर डॉ. अनिल तोमर ने बहुत ही संजोकर रखा था। इस अवसर पर एक शेर भी शेयर किया-
‘‘सबकी नजर में नहीं मुमकिन बेगुनाह रहना,
कोशिश करें बस अपनी नजर में बेदाग रहें’’