युग करवट संवाददाता
लखनऊ। उत्तर प्रदेश का प्रयागराज एक बार फिर सामूहिक हत्याकांड से थर्रा उठा है। प्रयागराज के शिवराजपुर गांव में एक ही परिवार के 5 लोगों की धारदार हथियार से मारकर हत्या कर दी गई। जानकारी के मुताबिक अज्ञात हत्यारों ने वारदात को अंजाम दिया है। हत्यारों ने बुजुर्ग दंपती और उनकी बेटी, बहू, पौत्री को मौत के घाट उतार दिया। इस हत्याकांड में एकलौती पांच साल की बच्ची जिंदा बची है। घटनास्थल पर सबूत मिटाने के लिए हत्यारों ने घर को आग के हवाले करने की भी कोशिश की। वही पुलिस ने हत्याकांड का खुलासा करने के लिए सात टीमें गठित कर दी है। पुलिस ने सभी शवों को कब्जे में ले लिया है। डॉग स्क्वायड और फॉरेंसिक टीम की मदद से जांच शुरू कर दी गई है। मृतकों में राज कुमार यादव (55) उनकी पत्नी कुसुम (50), बेटी मनीषा (25), बहू सविता (27) और पौत्री मीनाक्षी (2) शामिल है। वहीं पुलिस को पौत्री साक्षी (5) जिंदा मिली है, जो कि काफी दहशत में है। बच्ची को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
जानकारी के मुताबिक सुबह गांव वालों को घर से धुआं उठा हुआ दिखा। जब कुछ लोग घर में गए तो हत्याकांड का पता चला। लोगों ने पुलिस को सूचना दी। इसके बाद गांव में काफी भीड़ जमा हो गई। पुलिस ने हंगामा और दूसरा विवाद खड़ा होने से बचाने के लिए कई थानों की फोर्स गांव में लगा दी है। एसएसपी अजय कुमार ने बताया कि बेड रूम में आग लगी हुई थी। इसलिए घर से सभी मृतकों के शव को पुलिस ने वहां से हटा दिया गया। हत्याकांड के खुलासे के लिए सात टीमें बनाई गई हैं। जल्द ही वारदात का खुलासा किया जाएगा। परिजनों की तहरीर लेकर आगे की कार्रवाई की जाएगी।