युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश के वित्त, संसदीय कार्य एवं चिकित्सा शिक्षा और जिले के प्रभारी मंत्री सुरेश खन्ना ने आज जिले में विकास परियोजानाओं की प्रगति जानी। इस दौरान उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को डेंगू-मलेरिया और संचारी रोग की रोकथाम के लिए कड़े कदम उठाए जाने के निर्देश दिए।
बता दें कि २३ मार्च को हुई जिला योजना की बैठक में वर्ष २०२१-२२ के तहत जिले में विकास कार्यो के लिए २१७ करोड़ ४९ लाख १३ हजार रुपए का बजट अनुमोदित हुआ था। तब से अब तक किस विकास योजना में कितना काम हुआ, मुख्यमंत्री की प्राथमिकता वाली परियोजनाओं की क्या स्थिति है इसको जानने के लिए प्रभारी मंत्री सुरेश खन्ना ने विभिन्न विभागों की समीक्षा बैठक ली। विकास योजनाओं की समीक्षा के साथ ही प्रभारी मंत्री का फोकस संचारी रोगों की रोकथाम पर रहा। उन्होंने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि जिले भर में स्वच्छता अभियान बड़े स्तर पर चलाया जाए। कहीं भी बारिश का पानी जमा न हो और वायरल से पीडि़त मरीजों को बेहतर इलाज मिल सके इसके पर्याप्त इंतजाम किए जाने चाहिए। डेंगू-मलेरिया और वायरल से पीडि़त मरीजों को अस्पताल व घरों में भी इलाज के साथ-साथ निगरानी रखी जानी चाहिए। मरीजों को भर्ती करने के लिए अस्पतालों में पर्याप्त इंतजाम भी किए जाने चाहिए। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग, नगर निगम के साथ संयुक्त रूप से एंटी स्प्रे अभियान चलाए ताकि मच्छरों को पनपने से रोका जा सके। प्रभारी मंत्री ने विकास योजनाओं को समय से पूरा कराने और जो योजनाएं धनाभाव के कारण रूकी हैं उनके लिए शासन को फिर से पत्र लिखकर अनुमोदन करने के निर्देश दिए हैं। इस दौरान बैठक में डीएम आरके सिंह, सीडीओ अस्मिता लाल, नगरायुक्त महेन्द्र सिंह तंवर, राज्य मंत्री अतुल गर्ग, मेयर आशा शर्मा, मुरादनगर विधायक अजीतपाल त्यागी, मोदीनगर विधायक मंजू शिवाच, एसएसपी पवन कुमार और जिला पंचायत अध्यक्ष ममता त्यागी सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।