युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। मंगलवार को जिले के प्रभारी मंत्री सुरेश खन्ना गाजियाबाद पहुंचे। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों के साथ कोरोना संक्रमण को लेकर समीक्षा बैठक की और कोविड कंट्रोल रूम का भी निरीक्षण किया।
वहीं वो संजयनगर स्थित संयुक्त अस्पताल भी पहुंचे जहां उन्होंने मरीजों से बात की। मंगलवार सुबह अपने निर्धारित समय पर प्रभारी मंत्री जिला मुख्यालय पहुंचे और फिर मुख्यमंत्री के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के साथ करीब डेढ़ घंटे तक वार्ता की। इसके उपरांत उन्होंने विकास भवन स्थिति इंटीग्रेटेड कोविड कंट्रोल रूम का निरीक्षण किया। कंट्रोल रूम में मौजूद कर्मचारियों से प्रभारी मंत्री ने जानकारी ली कि वह दिन भर में कितनी कॉल अटेंड करते हैं, जो कॉल हेल्पलाइन पर आती हैं, उन्हें किस तरह से डील करते हैं और कोविड संक्रमित या होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों को किस प्रकार से मद्द पहुंचाई जाती है। समीक्षा एवं किसानों के भुगतान की व्यवस्था सहित कई बिंदुओं पर विस्तार से चर्चा की। प्रभारी मंत्री ने अधिकारियों को कहा कि एंबुलेंस सेवा के रिस्पांस टाइम को कम किया जाए और मृत व्यक्ति के शव को ले जाने के लिए वाहन की व्यवस्था जिला प्रशासन द्वारा की जाए। कोरोना कफ्र्यू का सख्ती से पालन किया जाए। बैठक में राज्यसभा सांसद अनिल अग्रवाल, राज्य स्वास्थ्य मंत्री अतुल गर्ग, महापौर आशा शर्मा, मोदीनगर विधायक डॉ.मंजू सिवाच, विधायक अजीत पाल त्यागी, विधायक सुनील शर्मा, विधायक नंद किशोर गुर्जर, एमएलसी दिनेश गोयल, भाजपा जिलाध्यक्ष दिनेश सिंघल, महानगर अध्यक्ष संजीव शर्मा, डीएम अजय शंकर पांडेय, जीडीए वीसी कृष्णा करूणेश, सीडीओ अस्मिता लाल, डीआईजी, एसएसपी अमित पाठक, सीएमओ डॉ.एनके गुप्ता, एडीएम सिटी एसके सिंह, एडीएम फाइनेंस यशवर्धन श्रीवास्तव, सिटी मजिस्ट्रेट विपिन कुमार व एसडीएम सदर डीपी सिंह आदि अधिकारी मौजूद रहे।