युग करवट संवाददाता
मोदीनगर। स्कूल बस में सवार बच्चे की मौत के मामले में हिरासत में लिए गए प्रधानाचार्य को छोडऩे का आरोप लगाकर मृतक छात्र अनुराग के परिजनों ने गुरुवार कोतवाली के सामने जाम लगाकर जमकर हंगामा किया। परिजनों ने पुलिस प्रशासन पर मिलीभगत का आरोप लगाया है। मृतक अनुराग भारद्वाज के परिजन गुरुवार सुबह मोदीनगर कोतवाली पहुंचे और मामले में कार्रवाई की जानकारी लेते हुए हिरासत में लिए गए प्रधानाचार्य नेत्रपाल सिंह के बारे में पूछा। थाने में तैनात पुलिकर्मियों ने बताया कि उन्हें निवाड़ी थाने में रखा गया हैं, इसके बाद्र जब परिजन निवाड़ी थाने में पहुंचे तो वहां पर भी प्रधानाचार्य मौजूद नहीं थे। करीब 9:30 बजे परिजनों सैकड़ों लोगों के साथ मोदीनगर कोतवाली पहुंचे और हंगामा करना शुरू कर दिया। परिजनों का कहना हैं कि जब तक प्रधानाचार्य को गिरफ्तार नहीं किया जाएगा, तब तक कोई नहीं हटेगा। करीब 11:30 पर एसपी ग्रामीण डॉ. ईरज राजा के लिखित में मामले की जांच के बाद गिरफ्तारी किए जाने आश्वासन के बाद लोग सडक़ से हटे और यातायात चालू हो सका।
क्या है मामला
बता दें कि बुधवार सुबह कक्षा तीन के छात्र अनुराग भारद्वाज की स्कूल बस से सिर बाहर निकालने पर किसी खंबे से टकराने से मौत हो गई थी। छात्र की मौत के बाद परिजनों ने स्कूल परिसर में शव रखकर पांच घंटे तक हंगामा किया था। इस मामले पुलिस ने मोदी समूह के चेयरमैन उमेश मोदी, प्रधानाचार्य नेत्रपाल सिंह, चालक ओमबीर के खिलाफ हत्या की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की हैै।