नोएडा (युग करवट)। ग्रेटर नोएडा के इंडिया एक्सपो सेंटर एंड मार्ट में 12 से 15 सितंबर तक आयोजित होने वाले वर्ल्ड डेयरी समिट 2022 का उद्घाटन करने के लिए 12 सितंबर को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मोदी के आने का कार्यक्रम प्रस्तावित है इसको लेकर पुलिस जिला प्रशासन व अन्य एजेंसियों ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी है। इसमें 40 देश भाग लेंगे। भारत 48 वर्ष बाद इसकी मेजबानी करेगा। भारत ने आखिरी बार 1974 में अंतरराष्ट्रीय डेयरी कांग्रेस की मेजबानी की थी। इसमें डेयरी उद्योग से जुड़ी नवीन तकनीक और सिस्टम को समझने का मौका मिलेगा। समिट में वैज्ञानिक, तकनीकी, व्यावसायिक और विपणन सत्र शामिल होंगे। इसमें दुनियाभर के डेयरी विशेषज्ञ, नेता और हितधारक डेयरी क्षेत्र के बारे में जुड़ेंगे।वह विचारों का आदान-प्रदान करेंगे। इसके जरिये भारत उन्नत देशों से सबक लेकर दूध उत्पादकता में सुधार करेगा।
भारत दुनिया का सबसे बड़ा दूध उत्पादक देश है। यह उपलब्धि लाखों छोटे और सीमांत डेयरी किसानों के माध्यम से हासिल की गई है। इनके लिए डेयरी एक आजीविका का महत्वपूर्ण स्रोत है। पिछले 50 वर्षों में भारतीय डेयरी क्षेत्र बड़े परिवर्तन आए हैं। इस लिहाज से यह आयोजन महत्वपूर्ण है। वल्र्ड डेयरी समिट में दुनिया भर से करीब 1500 प्रतिभागी भाग लेंगे। इसमें डेयरी प्रसंस्करण कंपनियों के सीईओ, डेयरी किसान, डेयरी उद्योग के आपूर्तिकर्ता, शिक्षाविद, सरकारी प्रतिनिधि आदि शामिल हैं। इस वैश्विक आयोजन में प्रदर्शनी के लिए 2500 वर्ग मीटर जगह रहेगी। इसमें उद्यमी या कंपनियां अपने उत्पाद का प्रदर्शन कर सकेंगी।