नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज ट्रेनी आईपीएस पुलिस अधिकारियों को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने ट्रेनी आईपीएस अधिकारियों से कहा कि आप जैसे युवाओं पर बड़ी जिम्मेदारी है। बीते 75 वर्ष में भारत ने एक बेहतर पुलिस सेवा के निर्माण का प्रयास किया है। पुलिस ट्रेनिंग से जुड़े इफ्रास्ट्रक्चर में भी हाल के वर्षों में बहुत सुधार हुआ है।
वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पीएम मोदी ने ट्रेनी अधिकारियों से कहा कि महिला अफसरों की भूमिका भी अहम है। आपको हमेशा ये याद रखना है कि आप एक भारत, श्रेष्ठ भारत के भी ध्वजवाहक हैं, इसलिए आपकी हर गतिविधि में नेशन फस्र्ट, आलवेज फस्र्ट यानी राष्ट्र प्रथम, सदैव प्रथम की भावना झलकनी चाहिए।  आपकी सेवाएं देश के अलग-अलग जिलों और शहरों में होगी।  आपको एक मंत्र हमेशा याद रखना होगा कि फील्ड में रहते हुए आप जो भी फैसले लें, उसमें देशहित और राष्ट्रीय परिपेक्ष्य होना चाहिए। इस मौके पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय भी मौजूद थे। प्रधानमंत्री ने कहा कि इस साल की 15 अगस्त खास है। आजादी की 75वीं वर्षगांठ इस बार पूरा देश मनाएगा। बीते 75 सालों में भारत ने एक बेहतर पुलिस सेवा के निर्माण का प्रयास किया है। गांधीजी ने सत्याग्रह के दम पर अंग्रोजों की नींव हिलाई थी- पीएम
ट्रेनी अफसरों को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि नए संकल्प से इरादे से आगे बढऩा है। अपराध से निपटने के लिए नया प्रयोग जरूरी है। प्रशिक्षु अधिकारी प्रधानमंत्री मोदी को भविष्य की योजनाओं के बारे में जानकारी दी। साथ ही वह अपना अनुभव भी साझा किया। ये प्रशिक्षु अधिकारी आने वाले सालों में महत्वपूर्ण पुलिस जिम्मेदारियों को संभालेंगे। इस संवाद में 144 ट्रेनी पुलिस अधिकारी शामिल हैं।