युग करवट ब्यूरो
लखनऊ। विधानसभा चुनाव से पहले उत्तर प्रदेश पर सौगातों की बौछार हो रही है। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के बाद आज सरयू नदी पर बने नहर का लोकार्पण किया गया। सोमवार को बनारस में काशी विश्वनाथ मंदिर कोरिडोर का भी लोकार्पण किया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज बलरामपुर में सरयू नहर राष्ट्रीय परियोजना का लोकार्पण किया। लोकार्पण कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय जल संसाधन मंत्री गजेंद्र सिंह के अलावा उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य भी शामिल हुए। इससे पहले प्रोजेक्ट से जुड़े अधिकारियों ने प्रधानमंत्री को नहर परियोजना के बारे में विस्तार से बताया।
परियोजना अधिकारी ने बताया कि 1978 से शुरू हुई सरयू नहर परियोजना पूरी होने से गोंडा सहित नौ जिलों के किसानों को खेती के लिए आसानी से पानी मिल सकेगा। यह परियोजना देश की सबसे बड़ी नहर परियोजना है। 808 किलोमीटर लंबी इस नहर परियोजना से किसानों को मंहगी सिंचाई की परेशानी से प्रभावी तौर पर छुटकारा मिलेगा। गोंडा जिले में यह सरयू नहर बहराइच से होकर प्रवेश कर रही है। नहर के लोकार्पण के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने बलरामपुर में आयोजित एक सभा को भी संबोधित किया।