युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। पेपर छूटने पर एमएमएच कॉलेज में प्राइवेट छात्रों ने जमकर हंगामा किया। छात्र कॉलेज से दोबारा पेपर कराए जाने की मांग कर रहे थे, लेकिन कॉलेज ने बिना विवि के हस्तक्षेप के फिर से पेपर कराने से इन्कार कर दिया। इससे भडक़े छात्रों ने कॉलेज परिसर में जमकर बवाल काटा। हंगामे की सूचना पर पहुंची पुलिस ने छात्रों को समझाने का प्रयास किया। दरअसल, आज बीए सेकेंड इयर का जनरल अवेयरनेस का एग्जाम था। प्राईवेट छात्रों की परीक्षा सुबह सात बजे की पाली में थी और रेग्यूलर छात्रों की परीक्षा दोपहर की पाली में थी। डेटशीट में यह बदलाव विवि के परीक्षा शेड्यूल में किया गया था, लेकिन परीक्षा कार्यक्रम को लेकर छात्रों में गफलत की स्थिति बनी रही। इसी कारण सुबह की पाली में प्राइवेट छात्र परीक्षा नहीं दे सके। दोपहर की पाली में जब प्राइवेट छात्र परीक्षा देने पहुंचे तो उन्हें पता चला कि उनकी परीक्षा का समय सुबह की शिफ्ट में था, इसलिए वह एग्जाम नहीं दे सकते। ऐसे छात्रों की संख्या पांच सौ के करीब थी। छात्रों ने कॉलेज प्रशासन से फिर से परीक्षा लेने की बात कही, लेकिन कॉलेज प्रशासन ने मना कर दिया। इसपर भडक़े छात्रों ने कॉलेज में जमकर हंगामा किया, छात्रों ने कहा कि वह बिना एग्जाम दिए नहीं जाएंगे। काफी देर तक कॉलेज में हंगामे की स्थिति बनी रही। कॉलेज के मीडिया प्रभारी डॉ. कुमदेश ने बताया कि डेटशीट में जो भी बदलाव किया गया था, वह विवि स्तर से हुआ था। अगर किसी छात्र का एग्जाम छूटा है तो विवि के स्तर से ही दोबारा उनकी परीक्षा कराई जा सकती है, अपने स्तर पर कॉलेज परीक्षा नहीं करा सकता है।