युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री ने कानपुर से विजयरथ यात्रा का शुभारंभ करने के बाद वो लगातार अपने भाषणों में घोषणा कर रहे हैं कि उनकी सरकार आई तो वो निशुल्क बिजली देंगे। इस दौरान अखिलेश यादव ने हमीरपुर में गरीबों को तीन सौ यूनिट और किसानों को मुफ्त बिजली देने का वादा किया। इतना ही नहीं, पूर्व सीएम ने ३८ लाख परिवारों पर बकाया बिजली बिल तक को माफ करने का चुनावी वादा किया है। बिजली के नाम पर अब पार्टियां मतदाताओं को आर्कषित करने का काम कर रही हैं। रथयात्रा के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि साढ़े चार साल तक सिर्फ बुल और बुलडोजर चलाते लेकिन अगर उनकी सरकारी बनी तो पेंशन तीन गुना की जाएगी। अखिलेश यादव ने लखीमपुर खीरी मामले को लेकर कहा कि इस सरकार में किसानों की आय दोगुनी होना तो दूर लखीमपुर खीरी में एक मंत्री के बेटे ने किसानों को कुचल कर मार डाला। बुंदेलखंड आज भी सिंचाई की समस्या से जूझ रहा है।
उन्होंने मतदाताओं को लुभाते हुए कहा कि पिछले चुनाव में बुंदेलखंड की सभी सीटें भाजपा को दी गई थीं लेकिन बदले में उन्हें क्या मिला। अखिलेश ने कहा कि इस सरकार में अनुसूचित जाति, अल्पसंख्यक, पिछड़ों का उत्पीडऩ किया जा रहा है। पेट्रोल सौ रुपए लीटर के पार हो गया है। डीजल के दाम भी बढ़ रहे हैं। सरसों के तेल की कीमत भी लगातार बढ़ रही है। महंगाई से आम जनता परेशान है। किसान सरसो उगाता है लेकिन उसका फायदा उद्योगपति उठा रहे हैं। नए कृषि कानून लागू होने पर किसान अपने ही खेत में मजदूर हो जाएंगे। अखिलेश यादव की विजय रथ यात्रा कानपुर से शुरू होकर हमीरपुर, कालपी व कानपुर देहात के माती पहुंची जहां उन्होंने जनसभाओं को संबोधित कर भाजपा सरकार पर जमकर निशाना साधा।